Search More

poems > Diwali

शुभ दीपावली जगमग जगमग दीप

शुभ दीपावली 

जगमग जगमग दीप जले 
आये घर में खुशहाली 
आपके जीवन में आये न 
कोई अँधेरी रात काली
दुःख दरिद्र सब दूर हो 
घर में हो लक्ष्मी का बसेरा 
जीवन में आपके कभी 
हो न क्षणिक मात्र भी अँधेरा
चेहरे से झलके चिंता न कभी भी 
हर पल आनद का अहसास हो 
आपके मन मंदिर में केवल 
बस ईश्वर का वास हो 
भटको ना कभी तुम डगर से अपने 
सत्य हो आपके हमेशा करीब 
चाहे लाखों तूफान आये 
बुझे न आपके जीवन का दीप 
हो चारों तरफ हरियाली आपके 
खिल उठे हर मुरझाई कली 
उमंगो और उत्साह से भरी 
मुबारक हो आपको दीपावली

Latest poems