Search More

poems > Hindi

शब्द कभी मरते नहीं

शब्द ब्रह्म है, शब्द कभी मरते नहीं।✨

अपशब्द तलवार से ज्यादा घाव देते,
मीठे बोल दवा से ज्यादा उपचार करते।
शब्द अनमोल हैं, इन्हें यूँ व्यर्थ न करो,
इन्हें खर्चने से पहले तनिक विचार करो।।

शब्द ब्रह्म है, शब्द कभी मरते नहीं।

सही शब्द सब काम बनाते,
गलत शब्द सब काम बिगाड़ते ।
कस्टमर हो या कोई भी रिश्ते,
शब्द से ही बनते बिगड़ते ।।

शब्द ब्रह्म है, शब्द कभी मरते नहीं।

मन्त्र जप से जिह्वा शुद्ध होती,
ध्यान से शब्द पर नियंत्रण होता ।
शब्द ब्रह्म औ नाद ब्रह्म को जो साध लेता,
वो मन वांछित फल प्राप्त कर लेता।

शब्द ब्रह्म है, शब्द कभी मरते नहीं।

Latest poems