Search More

poems > Holi Shayari

मन में आशायें लेकर के, आया

मन में आशायें लेकर के,
आया हैं मधुमास,
चलो होली खेलेंगे।
सुन्दर है संगीत,
मिलन का गीत सुनाओ,
त्योहारों की रीत,
गले से अब लग जाओ,
नेक विचारों को लेकर के,
उत्सव है ये खास,
चलो होली खेलेंगे।
खुशियों की सौगात लिए,
होली आयी है,
चाँदी जैसी रात लिए,
होली आयी है,
सूर्य उजाले लेकर के
लाया है धवल प्रकाश,
चलो होली खेलेंगे।
उड़त गुलाल लाल भये बादर
अबिर उड़े भरजोरी रे
नैक उरै आ श्याम
तोपे रंग डारूं.
होली की शुभकामानायें.

Latest poems