Search More

jokes > Life

आज कल हर शख़्श हमे ज़िंदगी

आज कल हर शख़्श हमे
ज़िंदगी कैसे जिए ये सीखा जाता है,
उन्हे कौन समझाए कुछ ख्वाब अधूरे है हमारे,
वरना हमसे बेहतर जीना किसे आता है.

Latest jokes