Search More

poems> Mother

हारी नहीं लड़ाई मम्मी

लेती नहीं दवाई मम्मी ,
जोड़े पाई-पाई मम्मी ।

दुःख थे पर्वत, राई मम्मी
हारी नहीं लड़ाई मम्मी ।

इस दुनियां में सब मैले हैं
किस दुनियां से आई मम्मी ।


दुनिया के सब रिश्ते ठंडे
गरमागर्म रजाई मम्मी ।

जब भी कोई रिश्ता उधड़े
करती है तुरपाई मम्मी ।

बाबू जी तनख़ा लाये बस
लेकिन बरक़त लाई मम्मी ।
------------------------------------

माँ" एक ऐसी बैंक है जहाँ आप हर भावना और दुख जमा कर सकते है... और 
"पापा" एक ऐसा क्रेडिट कार्ड है जिनके पास बैलेंस न होते हुए भी वह हमारे सपने पूरे करने की कोशिश करते है.

Latest poems